Study Materials

NCERT Solutions for Class 9th Science

 

Page 5 of 5

Chapter 5. जीवन की मौलिक इकाई

अतिरिक्त प्रश्नोत्तर 2

 

 

 

अतिरिक्त प्रश्नोत्तर (4 अंक)


प्रश्न 1- प्रोकैरियोटी कोशिका और युकैरियोटि कोशिका में क्या अंतर है ?
उत्तर - 
       
प्रोकैरियोटी कोशिका :   
    
1. आकार प्रायः छोटा होता है ।
2. इनकी कोशिकाओं में केन्द्रक झिल्ली नही होती है ।
3. क्रोमोसोम एक होता है ।

4. अधिकांश द्रव्य अंगक नही होते है ।

 युकैरियोटि कोशिका:

1. आकार प्रायः बडा होता है।
2. इनकी कोशिकाओं में केन्द्रक झिल्ली होती है ।
3. क्रोमोसोम एक से अधिक होता है ।
4. अधिकांश द्रव्य अंगक होते है।
प्रश्न 2- पादप कोशिका और जन्तु कोशिका में अंतर ज्ञात करो ।
उत्तर - 

पादप कोशिका :
              
1. इसमें कोशिका भित्ती होती है । 
2. इसमें हरित लवक उपस्थित होते है । 
3. इनमें प्रकाश संश्लेषण होता हैं । 
4. ये प्रायः बड़े आकार की होती हैं । 

जंतु कोशिका : 

1. इसमें कोशिका भित्ती नही होती हैं । 
2. इसमें हरित लवक अनुपस्थित होते हैं । 
3. इनमे प्रकाश संश्लेषण नही होता हैं । 
4. ये प्रायः छोटे आकार की होती हैं । 

प्रश्न 3- कोशिका को जीवन की सरंचनात्मक और क्रियात्मक इकाई क्यो कहते है ?
उत्तर - कोशिका से प्रत्येक जीव बने हैं और प्रत्येक जीवित कोशिका की मूलभूत संरचना और कार्य करने की क्षमता होती है जो सभी सजीवों का गुण हैं । इनमें पाए जाने वाले कोशिकांग लगातार विशिष्ट कार्य करते रहते है जिससे सजीव का जीवन चलता रहता हैं । अतं कोशिका को जीवन की सरंचनात्मक और क्रियात्मक इकाई कहते है ।
प्रश्न 4- किस कोशिकांग को कोशिका का बिजली घर कहते है ? और क्यों ?
उत्तर - माइटोकॉन्ड्रिया को कोशिका का बिजलीघर कहते हैं । माइटोकॉन्ड्रिया जीवन की विभिन्न रासायनिक क्रियाओ को करने के लिए ।ज्च् के रूप में उर्जा प्रदान करते हैं और यह आवश्यक उपयोगी उर्जा संचित  होती है । माइटोकॉन्ड्रिया के पास अपना DNA तथा राइबोसोम होता है । अतः माइटोकॉन्ड्रिया अपना कुछ प्रोटीन स्वंय बनाते हैं ।  
प्रश्न 5- विसरण प्रक्रिया क्या हैं ? कोशिकाओ में यह कैसे संपन्न होता है ?
उत्तर - विसरण एक कोशिकाओ मे होने वाली प्रक्रिया हैं जिसमें ऑक्सीजन, कार्बन डाइऑक्साइड जैसे पदार्थो का परिवहन होता है । इसे विसरण प्रक्रिया कहते है । कोशिका में CO2 जैसे कोशिकीय अपशिष्ट जिसका निष्कासन आवश्यक होता है| धीरे धीरे एकत्र होने से कोशिका के अंदर CO2 की सांद्रतां बढ़ जाती हैं जबकि कोशिका के बाहर CO2 की सांद्रता अंदर की अपेक्षा कम होती है जिससे कोशिका के अंदर दाब बढ जाता हैं । जिससे COकोशिका से बाहर की ओर निकलने लगता है । इसी प्रकार जब कोशिका में ऑक्सीजन की सांद्रता कम हो जाती है तो ऑक्सीजन बाहर से कोशिका में विसरण द्वारा अंदर चली जाती है । 

 

Page 5 of 5

 

Chapter Contents: