Study Materials

NCERT Solutions for Class 8th Science

 

Page 2 of 6

Chapter 4. पदार्थ : धातु एवं अधातु

अभ्यास

 

 

 

अभ्यास:


Q1. निम्नलिखित में से किसको पीटकर पतली चादरों में परिवर्तित किया जा सकता है?

(क) जिंक (ख) फाॅसफोरस (ग) सल्फर (घ) आॅक्सीजन

उत्तर: (क) जिंक 

Q2. निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही है?

(क) सभी धातुएँ तन्य होती हैं।

(ख) सभी अधातुएँ तन्य होती हैं।

(ग) सामान्यतः धातुएँ तन्य होती हैं।

(घ) कुछ अधातुएँ तन्य होती हैं।

उत्तर: (क) सभी धातुएँ तन्य होती हैं।

Q3. रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए-

(क) फाॅस्फोरस बहुत ____________ अधातु है।

(ख) धातुएँ ऊष्मा और ______  की _________ होती हैं।

(ग) आयरन, काॅपर की अपेक्षा __________ अभिक्रियाशील है।

(घ) धातुएँ, अम्लों से अभिव्रिफया कर _________ गैस बनाती हैं।

उत्तर: 

(क) सक्रिय

(ख)  विद्युत, सुचालक 

(ग) अधिक

(घ) हाइड्रोजन

Q4. यदि कथन सही है तो "T" और यदि गलत है तो कोष्ठक में "F" लिखिए-

(क) सामान्यतः अधातु अम्लों से अभिक्रिया करते हैं।     (  )

(ख) सोडियम बहुत अभिक्रियाशील धातु है। 

(ग) काॅपर, जिंक सल्फेट के विलयन से जिंक विस्थापित करता है। 

(घ) कोयले को खींच कर तारें प्राप्त की जा सकती हैं। 

(  )

(  )

​(  )

उत्तर: 

(क) F

(ख) T

(ग) F

(घ) F

Q5. नीचे दी गई सारणी में गुणों की सूची दी गई है। इन गुणों के आधार पर धातुओं और अधातुओं में अन्तर कीजिए-

गुण  धातु  अधातु

1. दिखावट

2. कठोरता

3. आघातवर्धनियता 

4. तन्यता 

5. ऊष्मा चालन

6. विद्युत चालन

 

(

उत्तर: 

गुण  धातु  अधातु

1. दिखावट

2. कठोरता

3. आघातवर्धनियता 

4. तन्यता 

5. ऊष्मा चालन

6. विद्युत चालन

(i) ये चमकीली होती है | 

(ii) ये ठोस होती हैं |

(iii) ये अघातवर्ध्य होती हैं |

(iv) ये तन्य होती हैं |

(v) ये ऊष्मा का चालन करती हैं |

(vi) ये विद्युत का चालन करती हैं | 

(i) ये चमकीली नहीं होती हैं |

(ii) ये ठोस नहीं होती हैं |

(iii) ये अघातवर्ध्य नहीं होती हैं |

(iv) ये तन्य नहीं होती है |

(v) ये ऊष्मा का चालन नहीं करती हैं | 

(v) ये विद्युत का चालन नहीं करती है | 

Q6. निम्नलिखित के लिए कारण दीजिए-

(क) ऐलुमिनियम की पन्नी का उपयोग खाद्य सामग्री को लपेटने में किया जाता है।

(ख) निमज्जन छड़ें (इमरशन राॅड) धात्विक पदार्थों से निर्मित होती हैं।

(ग) काॅपर, जिंक को उसके लवण के विलयन से विस्थापित नहीं कर सकता।

(घ) सोडियम और पोटैशियम को मिट्टी के  तेल में रखा जाता है।

उत्तर: 

(क) क्योंकि एल्युमीनियम एक अघातवर्धय धातु है और इसकी जितनी भी पतली चाहें पन्नी बनाई जा सकती है | 

(ख) 

(ग) काॅपर, जिंक को उसके लवण के विलयन से विस्थापित नहीं कर सकता क्योंकि जिंक, कॉपर से भी अधिक अभिक्रियाशील धातु है | विस्थापन अभिक्रिया तभी होती है जब कोई कम अभिक्रियाशील धातु के लवण के विलयन में अधिक अभिक्रियाशील धातु डाली जाये | 

(घ) सोडियम तथा पोटैशियम अत्यधिक क्रियाशील धातुएँ है। हवा के सम्पर्क में आते ही ये तीव्रता से ऑक्सीजन से अभिक्रिया करके ऑक्साइड बनाती है और आग पकड लेता है। अतः इनको सूरक्षित रखने के लिए मिट्टी के तेल में रखा जाता है।

 

Q7. क्या आप नींबू के अचार को ऐलुमिनियम पात्रों में रख सकते हैं? स्पष्ट करिए।

उत्तर: नहीं, निम्बू के आचार में अम्ल होते है जो एल्युमीनियम के साथ अभिक्रिया कर उसे संक्षारित कर देता है, जिससे बर्तन ख़राब हो जाते है और धीरे-धीरे नष्ट हो जाते हैं | 

 

 

 

 

Page 2 of 6

 

Chapter Contents: