Study Materials

NCERT Solutions for Class 7th Science

 

Page 3 of 3

Chapter 2. जंतुओं में पोषण

अतिरिक्त प्रश्नोत्तर 1

 

 

 

अतिरिक्त प्रश्न : हल सहित 


प्रश्न : प्राणी (जंतु) अपना भोजन किस प्रकार बनाते हैं?
उतर : प्राणी (जंतु) अपना भोजन प्रत्यक्ष अथवा परोक्ष रूप से पौधें से प्राप्त करते हैं। कुछ प्राणी सीधे ही पौधों का भक्षण करते हैं जबकि कई अन्य उन जंतुओं को अपना आहार बनाते हैं जो पौधे खाते हैं। कुछ जंतु, पौधों एवं जंतु दोनों को खाते हैं।

प्रश्न : मानव सहित सभी जीवों को वृद्धि करने, शरीर को स्वस्थ एवं गतिशील बनाए रखने के लिए किस चीज की आवश्यकता होती है?
उत्तर : मानव सहित सभी जीवों को वृद्धि करने, शरीर को स्वस्थ एवं गतिशील बनाए रखने के लिए खाद्य पदार्थों की आवश्यकता होती है।

प्रश्न : पाचन तंत्र का निर्माण कैसे होता हैं?
उत्तर : पाचक रस जटिल पदार्थों को उनके सरल रूप में बदल देते हैं। आहार नाल एवं संबद्ध ग्रंथियाँ मिलकर पाचन तंत्र का निर्माण करते हैं।

प्रश्न : मानव में पाचन क्रिया किस प्रकार होता है?
उत्तर : हम अपने मुख द्वारा भोजन का अंतर्ग्रहण करते हैं, इसे पचाते हैं तथा फिर उसका उपयोग करते हैं। आहार का बिना पचा भाग मल के रूप में निष्कासित किया जाता है। क्या आपने कभी यह जानने का प्रयास किया है कि शरीर के अंदर भोजन का क्या होता है? भोजन एक सतत् नली से गुजरता है, जो मुख-गुहिका से प्रारम्भ होकर गुदा तक जाती है। 

प्रश्न : आहार नली को कितने भागों में बाँटा जाता है ?
उत्तर : आहार नली को मुख्य छ: भागों में बाँटा जाता हैं -
(1) मुख-गुहिका

(2)  गा्रस-नली या गा्रसिका ;3.द्धआमाशय ;4.द्धक्षुद्रांत्रा ;छोटी आँतद्ध ;5.द्धबृहदांत्रा ;बड़ीआँतद्धजो मलाशय से जुड़ी होती है तथा ;6.द्धमलद्वार अथवा गुदा।

प्रश्न- अंतर्ग्रहण किसे कहते है?
उत्तर -भोजन का अंतर्ग्रहण मुख द्वारा होता है। आहार को शरीर वेफ अंदर लेने की क्रिया अंतर्ग्रहण कहलाती है।

प्रश्न- हम जीभ का उपयोग किन किन तरह से करते है?
उत्तर -हम बोलने वेफ लिए जीभ का उपयोग करते हैं। इसवेफ अतिरिक्त यह भोजन में लार को मिलाने का कार्य करती है तथा निगलने में भी सहायता करती है। जीभ द्वारा ही हमें स्वाद का पता चलता है। जीभ पर स्वाद-कलिकाएँ होती हैं, जिनकी सहायता से हमें विभिन्न प्रकार वेफ स्वाद का पता चलता है।

प्रश्न- जब आप जल्दी जल्दी खाना खाते है तो आपको खाँसी हिचकी और घुटन का अनुभव क्यों होता है ?
उत्तर -कभी-कभी जब आप जल्दी-जल्दी खाते हैं, अथवा खाते समय बात करते हैं, आपको हिचकी आती है अथवा घुटन का अनुभव होता है। यह खाद्य कणों वेफ श्वास नली में प्रवेश करने वेफ कारण होता है।

प्रश्न- आमाशय का आंतरिक अस्तर ;सतहद्ध को क्या क्या रस स्रावित करता है?
उत्तर - आमाशय का आंतरिक अस्तर ;सतहद्ध को श्लेष्मल हाइड्रोक्लोरिक अम्ल तथा रस स्रावित करता है।

प्रश्न-  श्लेष्मा आमाशय के आंतरिक स्तर को क्या प्रदान करता है?
उत्तर - श्लेष्मा आमाशय के आंतरिक स्तर की सुरक्षा प्रदान करता है। 

प्रश्न- अम्ल अनेक ऐसे कौन से जीवाणुओं को नष्ट करता है जो हमारे के भोजन साथ वहाँ तक जाते है?
उत्तर- अम्ल अनेक ऐसे जीवाणुओं को नष्ट करता है, जो भोजन वेफ साथ वहाँ तक पहुँच जाते हैं। साथ ही यह माध्यम को अम्लीय बनाता है। पाचक रस ;जठर रसद्ध प्रोटीन को सरल पदार्थों में विघटित कर देता है।

प्रश्न- क्षुद्रांत्रा कितने मीटर लंबी कुंडलित नली है?
उत्तर- क्षुद्रांत्रा लगभग 7ण्5 मीटर लंबी अत्यध्कि कंुडलित नली है। यह यकृत एंव अग्न्याशय से स्त्राव प्राप्त करती है। इसके अतिरिक्त इसकी भिति से भी कुछ रस स्त्रावित होते है।

प्रश्न- यकृत किस रंग की ग्रंथि है?
उत्तर- यकृत गहरे लाल-भूरे रंग की ग्रंथि है, जो उदर वेफ ऊपरी भाग में दाहिनी ;दक्षिणद्ध ओर अवस्थित होती है। यह शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि है। 

प्रश्न- पित्त रस किसे कहते है?
उत्तर- यह पित रस ड्डावित करती है, जो एक थैली में संग्रहित होता रहता है, इसे पित रस कहते है। पित्त रस वसा वेफ पाचन में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

प्रश्न- अग्न्याशय किस रंग कि बड़ी ग्रंथी है और वह किसके नीचे स्थित होती है?
उत्तर- अग्न्याशय हल्वेफ पीले रंग की बड़ी गं्रथि है, जो आमाशय वेफ ठीक नीचे स्थित होती है।

प्रश्न- ‘अग्न्याशयिक रस’ किन तथ्यों पर क्रिया करता है तथा इनको किस रुप में परिवर्तित करता है?
उत्तर- ‘अग्न्याशयिक रस’ कार्बोहाइड्रेट्स एवं प्रोटीन पर क्रिया करता है तथा इनको उनवेफ सरल रूप में परिवर्तित कर देता है।

प्रश्न- आंशिक रुप से पचा भोजन किस भाग में पहुँचता है? और आंत्रा रस पाचन क्रिया को क्या कर देता है?
उत्तर- आंशिक रूप से पचा भोजन अब क्षुद्रांत्रा वेफ निचले भाग में पहुँचता है जहाँ आंत्राद रस पाचन क्रिया को पूर्ण कर देता है। कार्बोहाइड्रेट सरल शर्वफरा जैसे कि ग्लूकोस में परिवर्तित हो जाते हैं।

प्रश्न- भोजन को श्वास नली में प्रवेश करने से किस प्रकार रोका जाता है?
उत्तर- भोजन निगलने वेफ समय एक माँसल रचना वाल्व का कार्य करती है, जो श्वासनली को ढक लेती है तथा भोजन को ग्रसनी में भेज देता है। संयोगवश यदि, भोजन वेफ कण श्वास नली में प्रवेश कर जाते हैं, तो हमें घुटन का अनुभव होता है तथा हिचकी आती है।

 

 

Page 3 of 3

 

Chapter Contents: