Study Materials

NCERT Solutions for Class 12th राजनितिक विज्ञान - I

 

Page 1 of 3

Chapter Chapter 6. अंतर्राष्ट्रीय संगठन

अध्याय-समीक्षा

 

 

 

अध्याय-समीक्षा 


  • संसार को युद्दो के विनाश से बचाने तथा विकास के लिए अन्तर्राष्ट्रीय संगठनो की आवश्यकता महसूस की गई थी |
  • प्रथम विश्वा युद्द के पश्चात लीग आँफ नेशस की स्थपना की गई परन्तु यह दूसरे विश्व योद्द को (1939-45) रोक पाने में असफल रहा |
  • उतराधिकारी के रूप में | 1945 में संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना हुई | 51 देशों ने इसके घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किये |
  • 2006 तक इसकी सदस्य संख्या 192 थी | (2011 तक 193)
  • इसका सबसे सार्वजनिक चेहरा, उसका प्रधान प्रतिनिधि महासचिव होता है वर्तमान महासचिव  का नाम बान की मून है जो दक्षिण कोरिया के है |
  • संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रमुख अंग है :--                                         1.आम सभा                                                               2.सुरक्षा परिषद्                                                            3.सचिवालय                                                               4.आर्थिक व सामाजिक परिषद्                                                5.अन्तर्राष्ट्रीय न्यायालय                                                     6.न्यासिता परिषद्- इन सभी के सहायक 
  • सयुंक्त राष्ट्र संघ की प्रमुख एजेंसियाँ 
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)
  • संयुक्त राष्ट्र संघ शैक्षिक, सामाजिक एवं सांस्क्रतिक संगठन (UNESCO)
  • संयुक्त राष्ट्र संघ बालकोष (UNICEF)
  • संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDEP)
  • संयुक्त राष्ट्रसंघ मानवाधिकार आयोग (UNHRC)
  • संयुक्त राष्ट्र संघ शरणार्थी उच्चयोग (UNHCR)
  • संयुक्त राष्ट्रसंघ व्यापार एवं विकास सम्मेलन (UNCTAD)
  • संयुक्त राष्ट्रसंघ ने 1948 से लेकर अब तक अनेकों शांति स्थापना अभियानों में सफलता प्राप्त की |
  • इसकी अनेक अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाऐ भी है जो अपने उद्देश्यों को पूरा करने में लगी है | इस प्रकार है |                                                              विश्व बैक - मानव विकास, ग्रामीणों विकास, पर्यावरण सुरक्षा आदि |                अन्तर्राष्ट्रीय आनिव्क उर्जा एजेंसी - परमाणु प्रोधोगिकी का शंतिपूर्ण उपयोग |          अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष - वैशिवक वित व्यवस्था की देखरेख |                      एमनेस्टी इंटरनेशनल - मानवाधिकारों की रक्षा |                                  रेडक्रास सोसायटी - गर्र्णपीस आदि |
  • 1965 में सुरक्षा परिषद् के अस्थाई सदस्यों की संख्या 11 से बढ़ा कर 15 कर दी गई |
  • अन्तर्राष्ट्रीय पहल पर राष्ट्रसंघ में सुधारों व बदलावों की मांग उठती रही है |
  • ब्राजील,जर्मनी,जापान तथा भारत भी सुरक्षा परिषद् के स्थायी सदस्य बनने की होड़ में शामिल है |
  • एक र्धुर्वीय विश्व में यूएन को प्रासंगिक बनाये रखने की विभिन्न प्रयास किए गए जैसे :-
  • शांति संस्थापक आयोग का गठन |
  • सहस्राब्दि विकास लक्ष्य 
  • एक लोकतंत्र कोष का गठन आदि |

 

Page 1 of 3

 

Chapter Contents: