Study Materials

NCERT Solutions for Class 10th History

 

Page 1 of 3

Chapter Chapter 8. उपन्यास, समाज और इतिहास

अध्याय-समीक्षा

 

 

 

अभ्यास-समीक्षा 


  • उपन्यास साहित्य की एक आधुनिक विधा है।
  • उपन्यास का विकास इंग्लैंड और फ्रांस से अठारहवी सदी में हुआ।
  • पहला धारावाहिक उपन्यास सन् 1836 में छपा था।
  • राष्ट्र की तरह उपन्यास भी कई संस्कृतियों को एक साथ इकट्ठा करता है
  • एमिली जोला का जर्मिनल (1885) खदान मजदूरों के शोचनीय हालात को दर्शाता है।
  • पहला भारतीय उपन्यास मराठी भाषा में लिखा गया था | 
  • हिंदी उपन्यास का पाठक वर्ग देवकी नन्दन खत्री के लेखन से पैदा हुआ |
  • पिकविक पेपर्स पत्रिका चार्ल्स डिकेन्स की पहली धारावाहिक पत्रिका थी |
  • होरी और धनिया गोदान उपन्यास के प्रसिद्ध पात्र है |
  • अंगुरिया बिनिमाय बंगाली में लिखा जाने वाला पहला उपन्यास था | 
  • आर कृष्णमूर्ति तमिल भाषा के लोकप्रिय ऐतिहासिक उपन्याकार रहे हैं |
  • कादम्बरी का लेखक बाण भट्ट है |
  • सौदामिनी उपन्यास उड़िया भाषा में हैं |
  • इंदुलेखा उपन्यास मलयालम भाषा में लिखा गया |
  • मेयर ऑफ़ केस्टर ब्रिज नामक उपन्यास के लेखक थामस हार्डी हैं |
  • किस्तों में छपने वाले उपन्यास को धारावाहिक उपन्यास कहते हैं |
  • हस्तलिखित किताबें पांडुलिपियाँ कहलाती है |
  • उपदेशात्मक शैली में लिखे जाने के कारण परीक्षा गुरु उपन्यास अधिक लोकप्रिय नहीं हुआ |
  • सरस्वती विजयम निम्न जाति के लोगों की तरक्की के लिए शिक्षा के महत्व पर बल को रेखांकित करता है | 
  • प्रेमचन्द्र के उपन्यासों के पात्र समाज के विभिन्न वर्गो से घुल-मिल गये है।
  • निजी पत्रों के रूप में प्रकाशित उपन्यास को पत्रात्मक उपन्यास कहते हैं |
  • प्रेमचन्द्र ने अपने उपन्यासों मे अभिजात वर्ग, जमींदार वर्ग, जमींदार मध्यवर्गीय किसान, मजदूर, नौकरी पेशा लोगों को लिया है।
  • बंकिम चन्द्र चटर्जी ने आनंद मठ नामक प्रसिद्ध उपन्यास की रचना की है |
  • साहस और शौर्यशाली अतीत के आहवान से युवा पीढ़ी में देश भक्ति का प्रचार हुआ।

 

Page 1 of 3

 

Chapter Contents: