Study Materials

NCERT Solutions for Class 10th Geography

 

Page 1 of 3

Chapter chapter 3. जल संसाधन

मुख्य-बिन्दुएँ

 

 

 

अध्याय-समीक्षा :


  • विश्व में जल के आयतन का 96.5 प्रतिशत भाग महासागरों में तथा केवल 2.5 प्रतिशत भाग अलवणीय जल है।
  • भारत की अधिकतर नदियाँ विशेषकर सरिताएँ प्रदूषण के कारण जहरीली धाराओं में परिवर्तित हो चुकी है।
  • नदी बेसिन - मुख्य नदी तथा उसकी सहायक नदियों द्वारा कुल सिंचित क्षेत्र।
  • नर्मदा बचाओ आंदोलन - नर्मदा नदी पर सरदार सरोवर बाँध बनाने के विरोध में चलाया गया आंदोलन।
  • पॉलर पानी - राजस्थान के कुछ भागो में वर्षा जल का सबसे शुद्ध रूप।
  • भूमिगत जल - मृदा के नीचे बिछे हुए शैल आस्तरण छिद्रों और परतों में एकत्र होने वाला जल।
  • वर्षा जल संग्रहण - वर्षा जल को गड्ढों में एकत्र करना।
  • जल विद्युत - ऊँचे स्थानों से जल धारा को नीचे गिराकर उत्पन्न की गई विद्युत।
  • जल प्रपात - नदी घाटी के मध्य में ऊँचाई से गिरने वाला झरना।
  • बाँध - बहते जल को रोकने, दिशा देने या बहाव कम करने के लिए खड़ी की गई बाधा है जो आमतौर पर जलाशय, झील अथवा जलभरण बनाती है।
  • बहुउद्देशीय परियोजनाएँ - नदियों पर बाँध बनाकर एक बार में अनेक उद्देश्यों को प्राप्त करने का प्रयत्न किया जाता है।
  • बहुराष्ट्रीय कंपनियाँ - वे कंपनियाँ जिनके उद्योग संस्थान एक से अधिक देशों में कार्य करते हैं तथा अनेक देशों में पूंजी निवेश करते हैं तथा अधिक लाभ अर्जित करते हैं।
  • बाँस ड्रिप सिंचाई प्रणाली - नदियों व झरनों के जल को बाँस के बने पाइप द्वारा एकत्रित करके सिंचाई करना बाँस ड्रिप सिंचाई कहलाता है।

 

Page 1 of 3

 

Chapter Contents: